बीज निगम ने थमाया मिक्स बीज, बोनी बिगड़ी

– निगम की लापरवाही के चलते बिगड़ी किसान की बोनी
– आगे-पीछे फूल आने से उत्पादन पर होगा भारी असर

अनोखा तीर, हरदा। करीबी ग्राम बीड़ में बीज निगम की घोर लापरवाही के चलते किसान को लाखों का नुकसान पहुंचा है। विगत 6 जून को निगम कर्मियों ने किसान भोजराम शर्मा को सोयाबीन २०१४ सी-वन किस्म का मिक्स बीज थमा दिया गया। साथ ही बीज देते समय 3०-३० किलो की 12 कट्टियों में से निगम का टेग भी निकाल लिया। उस समय तो किसान ने निगम कर्मियों की सलाह पर 3 क्विंटल 60 किलो बीज को अपने 10 एकड़ खेत में बो दिया। बीज का व्यवस्थित जर्मीनेशन भी हुआ। किन्तु बोनी के कुछ दिन पौधे अलग-अलग दिखाई देने लगे। पहले तो किसान ने उसे हल्के में लेकर उसे भी फसल की नजरों से देखा। लेकिन बोनी के 40 दिन बाद जब सोयाबीन फूल शुरू हुए तो आधे खेत में बहार आई, वहीं आधे खेत की फसल में फूल नही आए। जिससे किसान भोजराम शर्मा व उनके पुत्र राजेन्द्र शर्मा की चिंता बढ़ गई। उन्होंने तत्काल बीज निगम के अधिकारियों से संपर्क कर उन्हें स्थिति से अवगत कराया। लंबी चर्चा के बाद अधिकारी ने किसान को सर्वे का आश्वासन दिया है। किसान राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि बीज निगम से सी-वन वेरायटी का २०१४ नम्बर का बीज क्रय किया था। किन्तु बीज निगम ने नम्बर वन बीज के नाम पर मिक्स बीज थमा दिया। जिसके चलते 10 एकड़ खेत में सोयाबीन की फसल बुरी तरह बिगड़ गई है। किसान के मुताबिक उन्हें लाखों रूपए का नुकसान हुआ है।

फसल में नही आए एकसाथ फूल
मिक्स बीज में एक प्रकार के पौधें में फूल शुरू हो गए, वहीं दूसरी किस्म के पौधें में फूल की शुरूआत तक नही हुई। किसान के मुताबिक निगम की लापरवाही के चलते उनका बारह मास का चास बिगड़ गया है। अगर बीज की कमी बोनी के एक सप्ताह में उजागर हो जाती तो दूसरी बोनी कर सकते थे। लेकिन इस बात का खुलासा एक माह बाद हुआ, तब तक काफी समय हो चुका था।

निगम ने वसूली प्रीमियम राशि
किसान भोजराम द्वारा बीज निगम से जिस सी-वन किस्म का बीज खरीदा है, उसका निगम द्वारा बीमा किया है। इसके लिए लगभग 20 हजार रूपए के 3 क्विंटल 60 किलो बीज पर बीमा राशि के रूप में 1580 रूपए जोड़कर बिल बनाया है। अब किसान प्रभावित फसल का सर्वे कराने दफ्तरों के चक्कर काट रहा है। किन्तु सर्वे के लिए निगम कर्मी अब तक किसान के खेत तक नही पहुंचे हैं।